DAV स्कूल वेद परसदा मे शासकीय कर्मचारी के बच्चे का RTE में दाखिला, शिक्षा अधिकारी से हुआ शिकायत

बिलासपुर मस्तूरी

मस्तूरी। विकासखंड के डीएवी पब्लिक स्कूल वेद परसदा में शिक्षा के अधिकार के तहत डीएवी स्कूल के नोडल अधिकारी व पालकों की मिलीभगत से शासन को गुमराह कर फर्जी व गलत दस्तावेज जमा कर शासकीय कर्मचारियों के बच्चे को शिक्षा के अधिकार के तहत दाखिला लिया गया है। यह जानकारी जैसे ही अन्य पालकों को हुआ तो नोडल अधिकारी के ऊपर शासकीय कर्मचारी और नोडल अधिकारी के सांठगांठ होने की बात कहते हूऐ दूसरे अन्य पालकों ने जिला शिक्षा अधिकारी के पास डीएवी के नोडल अधिकारी के नाम से नियमविरुद्ध शासकीय कर्मचारियों के बच्चे का दाखिला करने को लेकर शिकायत किए हैं। शिकायतकर्ता के बताए अनुसार डीएवी स्कूल वेद परसदा में दो से तीन शासकीय कर्मचारी के बच्चों का दाखिला किया गया है।

डीएवी स्कूल के प्रिंसिपल श्वेता श्रीवास्तव का कहना है कि शिक्षा के अधिकार के तहत नोडल अधिकारी नियुक्त हुए हैं ,वही पूरी छानबीन कर हमें लिस्ट भेजते हैं उसी के हिसाब से हम बच्चे का दाखिला लेते हैं इसके बारे में हमें जानकारी नहीं है।

डीएवी स्कूल के नोडल अधिकारी शासकीय हाई स्कूल वेद परसदा के प्रिंसिपल सीमा चंदेल है उनका कहना है कि जो भी फार्म शिक्षा के अधिकार के तहत हमारे पास आए हैं सभी फोटो कॉपी में ही प्राप्त हुए थे , जिसे हमने डीएवी स्कूल को भेज दिए थे, और उसमें यह बात का उल्लेख भी लिखे थे की मूल प्रति के जांच करने के उपरांत ही दाखिला करें।हमारे हिसाब से सभी दाखिला नियम अनुसार ही हुआ है।

वहीं इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी डीके कौशिक का कहना है कि इस विषय में शिकायत पत्र प्राप्त हुआ है शिकायत की जांच करवाया जाऐगा ,झूठी दस्तावेज पाए जाने पर दोषियों पर उचित करवाई किया जाएगा।