बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) पर RBI का बड़ा एक्शन, लाखों ग्राहकों पर पड़ेगा सीधा असर

      1. नई दिल्ली, 10 अक्टूबर 2023 – भारतीय रिजर्व बैंक(RBI) ने बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) पर बड़ा एक्शन लिया है। RBI ने BoB को अपने मोबाइल ऐप ‘बॉब वर्ल्ड’ पर नए ग्राहक जोड़ने से तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। RBI ने बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 35A के तहत अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए बैंक ऑफ बड़ौदा को ‘बॉब वर्ल्ड’ मोबाइल ऐप पर और ग्राहकों जोड़ने से की प्रक्रिया को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने
Bob world Bank of Baroda
BoB World – Bank of Baroda mobile banking

 

RBI ने यह कार्रवाई BoB के मोबाइल ऐप  सुरक्षा कमियों के चलते की है। RBI ने कहा है कि BoB के मोबाइल ऐप पर कई तरह की सुरक्षा कमियां हैं, जिनका इस्तेमाल साइबर अपराधी ग्राहकों के खातों को हैक करने के लिए कर सकते हैं।

BoB के मोबाइल ऐप पर सुरक्षा कमियों का पता एक स्वतंत्र सुरक्षा फर्म ने लगाया था। सुरक्षा फर्म ने BoB को इन कमियों को ठीक करने के लिए कहा था, लेकिन BoB ने इन कमियों को ठीक नहीं किया। RBI के रोक लगाने से मतलब है कि अब BOB के इस ऐप पर नए ग्राहक नहीं जुड़ सकेंगे।

हालांकि, बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) के पुराने ग्राहकों पर इसका असर नहीं पड़ेगा क्योंकि रिजर्व बैंक ने यह सुनिश्चित करने को कहा है कि ‘बॉब वर्ल्ड’ के पुराने ग्राहकों को किसी भी दिक्कतों सामना न करना पड़े।

RBI की कार्रवाई का लाखों BoB ग्राहकों पर सीधा असर पड़ेगा। BoB के मोबाइल ऐप पर नए ग्राहक नहीं जुड़ सकेंगे। मौजूदा ग्राहक BoB के मोबाइल ऐप का इस्तेमाल अपने खातों को प्रबंधित करने के लिए कर सकेंगे।

जहां एक ओर मोबाइल बैकिंग ऐप का चलन बढ़ जाने और UPI से लेन-देन करने में सुविधाजनक है वहीं दूसरी ओर साइबर अपराधी मोबाईल 📲 तकनीक को कम जानने वाले लोगो को और ऐप के लेन-देन की खामियों OTP मांगकर या सुरक्षा की त्रुटियों के चलते मेहनत से कमाए पैसे को चटपट साफ कर लेते हैं।

BoB के मोबाइल ऐप पर सुरक्षा कमियां

BoB के मोबाइल ऐप पर कई तरह की सुरक्षा कमियां हैं। इन कमियों में शामिल हैं:-

कमजोर प्रमाणीकरण: BoB के मोबाइल ऐप में प्रमाणीकरण की प्रक्रिया कमजोर है। इसमें ग्राहकों को केवल एक बार इस्तेमाल होने वाला पासवर्ड (OTP) डालना होता है। साइबर अपराधी इस कमजोरी का इस्तेमाल ग्राहकों के खातों को हैक करने के लिए कर सकते हैं।

सुरक्षित कनेक्शन की कमी: BoB के मोबाइल ऐप में सुरक्षित कनेक्शन की व्यवस्था नहीं है। इससे ग्राहकों के डेटा को चोरी करने का खतरा बढ़ जाता है।

कमजोर डेटा एन्क्रिप्शन: BoB के मोबाइल ऐप में डेटा एन्क्रिप्शन की व्यवस्था कमजोर है। इससे साइबर अपराधी ग्राहकों के डेटा को आसानी से डिक्रिप्ट कर सकते हैं।

RBI की कार्रवाई के बाद BoB की प्रतिक्रिया

BoB ने RBI की कार्रवाई के बाद कहा है कि वह सुरक्षा कमियों को ठीक करने के लिए काम कर रहा है। BoB ने कहा है कि वह जल्द ही अपने मोबाइल ऐप पर सुरक्षा कमियों को ठीक कर देगा। RBI ने बैंक को यह सुनिश्चित करने को कहा हैं कि BOB World app को इस्तेमाल करने वाले पुराने ग्राहकों को लेन देन में कोई दिक्कत न हों।

RBI की कार्रवाई का प्रभाव

RBI की कार्रवाई से बैंकिंग क्षेत्र में सुरक्षा पर ध्यान बढ़ने की उम्मीद है। अन्य बैंक भी अपने मोबाइल ऐप पर सुरक्षा कमियों को ठीक करने के लिए कदम उठा सकते हैं। RBI की कार्रवाई से साइबर अपराधियों को भी एक बड़ा झटका लगा है।

ग्राहकों को क्या करना चाहिए ?

RBI ने ग्राहकों से सलाह दी है कि वे अपने बैंकिंग लेनदेन के लिए सुरक्षित कनेक्शन का इस्तेमाल करें। ग्राहकों को अपने बैंकिंग पासवर्ड और अन्य विवरणों को गुप्त रखना चाहिए। ग्राहकों को बैंकिंग वेबसाइटों और ऐप्स पर दिए गए सुरक्षा चेतावनी को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

Leave a Comment