Karnataka Foundation Day: जाने कर्नाटक के बनने कि रोचक कहानी, नदियां और जिले कितने है ?

Karnataka Foundation Day: या कर्नाटक राज्योत्सव हर साल 1 नवंबर को मनाया जाता है। वर्ष 1956 में इसी दिन दक्षिण भारत के सभी कन्नड़ भाषा बोलने वाले क्षेत्रों को मिलाकर कर्नाटक राज्य बनाया गया था।

Karnataka Formation Day: History (इतिहास)

– इतिहास 1947 में भारत की स्वतंत्रता से पहले, कर्नाटक (Karnataka) को मैसूर जैसी विभिन्न रियासतों और बॉम्बे और मद्रास प्रेसीडेंसी जैसे प्रत्यक्ष ब्रिटिश प्रशासन के तहत क्षेत्रों में विभाजित किया गया था।

1947 में भारत की स्वतंत्रता के बाद, देश को भाषाई आधार के बजाय प्रशासनिक सुविधा के आधार पर राज्यों में विभाजित किया गया था।

इसका मतलब था कि कन्नड़ भाषी क्षेत्र विभिन्न राज्यों में बिखरे हुए थे। 1950 के दशक में सभी कन्नड़ भाषी क्षेत्रों को एक राज्य में एकीकृत करने की मांग बढ़ रही थी।

विरोध, प्रदर्शन और साहित्यिक आंदोलन हुए जिनका नेतृत्व साहित्य, राजनीति आदि के क्षेत्र की कई उल्लेखनीय हस्तियों ने किया। 1956 में, भारत सरकार ने देश भर में भाषाई-आधारित राज्यों की मांगों पर विचार करने के बाद राज्य पुनर्गठन अधिनियम पारित किया।

इस अधिनियम के परिणामस्वरूप, 1 नवंबर, 1956 को बॉम्बे प्रेसीडेंसी, मद्रास प्रेसीडेंसी, हैदराबाद की रियासत और मैसूर के पुराने राज्य के कन्नड़ भाषी क्षेत्रों का विलय करके एक नया राज्य बनाया गया।

इस राज्य को शुरू में ‘मैसूर राज्य’ कहा जाता था। 1973 में, राज्य के सभी कन्नड़ भाषी क्षेत्रों का बेहतर प्रतिनिधित्व करने के लिए मैसूर राज्य का नाम बदलकर ‘कर्नाटक’ कर दिया गया।

Karnataka Formation Day: Significance (महत्व)

-कर्नाटक स्थापना दिवस का महत्व राज्योत्सव दिवस कर्नाटक राज्य में एक सरकारी अवकाश के रूप में सूचीबद्ध है और दुनिया भर में कन्नड़ लोगों द्वारा मनाया जाता है।

यह कर्नाटक सरकार द्वारा राज्योत्सव पुरस्कारों के लिए सम्मान सूची की घोषणा और प्रस्तुति द्वारा चिह्नित है, जिसमें सामुदायिक त्योहारों, ऑर्केस्ट्रा, कन्नड़ पुस्तक विमोचन और संगीत कार्यक्रमों के साथ राज्य के मुख्यमंत्री और राज्यपाल के संबोधन के साथ आधिकारिक कर्नाटक ध्वज फहराया जाता है।

Karnataka Formation Day: Events (कार्यक्रम)

कर्नाटक स्थापना दिवसः कार्यक्रम कर्नाटक राज्योत्सव पूरे कर्नाटक में बड़े उत्साह और राज्य गौरव के साथ मनाया जाता है। राज्य का झंडा फहराया जाता है, और सांस्कृतिक कार्यक्रम, परेड और अन्य उत्सव इस अवसर को चिह्नित करते हैं।

Karnataka_Map
Karnataka Map

कर्नाटक राज्य (Karnataka) में कितने जिले हैं ?

-कर्नाटक राज्य में 31 जिले हैं, जिनका विवरण आगे दिया गया हैं-

क्र.सं. जिला का नाम जनसंख्या (2011) क्षेत्रफल (वर्ग किमी) जनसंख्या घनत्व लिंग अनुपात* साक्षरता विकास दर
1 बागलकोट जिला 1889752 6583 288 989 68.82 14.40%
2 बैंगलोर जिला 9621551 2190 4378 916 87.67 47.18%
3 बैंगलोर ग्रामीण जिला 990923 2239 441 946 77.93 16.45%
4 बेलगाम जिला 4779661 13415 356 973 73.48 13.41%
5 बेल्लारी जिला 2452595 8439 300 983 67.43 20.99%
6 बीदर जिला 1703300 5448 312 956 70.51 13.37%
7 विजयपुरा जिला 2177331 10517 207 960 67.15 20.50%
8 चामराजनगर जिला 1020791 5102 200 993 61.43 5.73%
9 चिकबल्लापुर जिला 1255104 4208 298 972 69.76 9.23%
10 चिकमगलूर जिला 1137961 7201 158 1008 79.25 -0.26%
11 चित्रदुर्ग जिला 1659456 8437 197 974 73.71 9.33%
12 दक्षिण कन्नड़ जिला 2089649 4559 457 1020 88.57 10.11%
13 दावणगेरे जिला 1945497 5926 329 972 75.74 8.63%
14 धारवाड़ जिला 1847023 4265 434 971 80 15.13%
15 गदग जिला 1064570 4651 229 982 75.12 9.54%
16 गुलबर्गा जिला 2566326 10990 233 971 64.85 18.01%
17 हसन जिला 1776421 6814 261 1010 76.07 3.18%
18 हावेरी जिला 1597668 4825 331 950 77.4 11.02%
19 कोडागू जिला 554519 4102 135 1019 82.61 1.09%
20 कोलार जिला 1536401 4012 384 979 74.39 10.77%
21 कोप्पल जिला 1389920 5565 250 986 68.09 16.21%
22 मांड्या जिला 1805769 4961 365 995 70.4 2.38%
23 मैसूर जिला 3001127 6854 437 985 72.79 13.63%
24 रायचूर जिला 1928812 6839 228 1000 59.56 15.51%
25 रामनगर जिला 1082636 3573 303 976 69.22 5.05%
26 शिमोगा जिला 1752753 8495 207 998 80.45 6.71%
27 तुमकुर 2678980 10598 253 984 75.14 3.65%
28 उडुपी जिला 1177361 3879 304 1094 86.24 5.85%
29 उत्तर कन्नड़ जिला 1437169 10291 132 979 84.06 6.17%
30 यादगिर जिला 1174271 5225 224 989 51.83 22.81%
31 विजयनगर जिला 1,353,628 4,252 320 NA 51.83 22.81%

 

कर्नाटक राज्य (Karnataka) में बहने वाली नदियों के नाम इस प्रकार है :

  • अमरजा नदी
  • अर्कावती नदी
  • अग्रणी नदी
  • कुब्जा नदी
  • कुमुदवती नदी
  • केदका नदी
  • कावेरी नदी
  • कृष्णा नदी
  • गंगवल्ली नदी
  • घटप्रभा नदी
  • चक्र नदी
  • चित्रावती नदी
  • तुंगभद्रा नदी
  • दंडावती नदी
  • दूधगंगा नदी
  • नेत्रवती नदी
  • पंचगंगावल्ली नदी
  • पापाग्नि नदी
  • पेन्ना नदी
  • पोन्नैयार नदी
  • भीमा नदी
  • मांडवी नदी
  • लक्ष्मण तीर्थ नदी
  • वरदा नदी
  • वराही नदी
  • वृषभावती नदी
  • शरावती नदी
  • शिमशा नदी
  • सीता नदी
  • सौपर्निका नदी (कोल्लूरु नदी)
  • हिरण्यकेशी नदी
  • हेमावती नदी

कावेरी नदी की उपनदिया-

अर्कावती नदी, लक्ष्मण तीर्थ नदी, वृषभावती नदी, शिमशा नदी, हेमावती नदी है ।

कृष्णा नदी के प्रमुख उपनदियो का नाम-

अग्रणी नदी, अमरजा नदी, घटप्रभा नदी, तुंगभद्रा नदी, दंडावती नदी, भीमा नदी, हिरण्यकेशी नदी है ।

FAQ अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न:

कर्नाटक (Karnataka) कि स्थापना कब हुआ था ?

– कर्नाटक (Karnataka) राज्य कि स्थापना 1 नवंबर 1973 में हुआ था।

कर्नाटक (Karnataka) में कुल कितने जिले हैं ?

– कर्नाटक (Karnataka) में कुल 31 राज्य  हैं।

ये जरूर पढ़े –

Okaya EV Motofaast : बिना रुके चले 120 km, डबल बैटरी के साथ लॉन्च हुआ, Top Speed 70, जाने खास फीचर्स

OnePlus Open: 1st Foldable Phone फोल्डेबल फोन लॉन्च, कई फोन को टक्कर देते हैं इसके फीचर्स

आदित्य रॉय कपूर की बाहों से लिपटी दिखीं अनन्या पांडे, 13 साल बड़े ब्वॉयफ्रेंड संग रोमांटिक वीडियो वायरल

UT 69 : Raj Kundra बायोपिक की घोषणा सुनते ही शिल्पा शेट्टी ने राज को चप्पल से कूटा

Leave a Comment