CBI Raids Office Of Delhi CM Arvind Kejriwal दिल्ली सचिवालय में छापा

CBI Raids Office Of Delhi CM Arvind Kejriwal
CBI Raids Office Of Delhi CM Arvind Kejriwal

CBI Raids Office Of Delhi CM Arvind Kejriwal दिल्ली सचिवालय में छापा

नई दिल्ली. दिल्ली सचिवालय में मंगलवार सुबह सीबीआई ने छापा मारा। इस पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कई ट्वीट कर दावा किया, “छापा मेरे दफ्तर पर पड़ा है। पीएम नरेंद्र मोदी कायराना हरकत पर उतर आए हैं। वो मनोरोगी हैं।” इस बीच, सीबीआई प्रवक्ता ने कहा,”छापा सीएम ऑफिस पर नहीं था। झूठा प्रचार न करें।”
सीबीआई ने क्या कहा?
सीबीआई प्रवक्ता देवप्रीत सिंह ने कहा, “ सीबीआई ने एक सीनियर अफसर और छह अन्य लोगों के खिलाफ मंगलवार को 14 जगहों पर सर्च ऑपरेशन चलाए। दिल्ली और यूपी में यह कार्रवाई की गई। हमने अदालत से सर्च वारंट लेकर ही छापेमारी की है। मामला 2007 से 2014 के बीच दिल्ली सरकार के ठेके एक खास कंपनी को देने से जुड़ा है। हम साफ कर देना चाहते हैं कि सीएम ऑफिस की तलाशी नहीं ली गई है।” सीबीआई की तरफ से कहा गया कि केजरीवाल के प्रिंसिपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के दफ्तर को सील किया गया है। Raid.
UPDATES….
– सीबीआई ने बयान जारी कर कहा- छापा सीएम ऑफिस पर नहीं था, झूठा प्रचार न करें।
– प. बंगाल की सीएम को ट्वीट के जरिए रिप्लाई में केजरीवाल ने कहा- ममता दी, यह अघोषित इमरजेंसी हैं।
– दिल्ली के सीएम के समर्थन में आईं ममता बनर्जी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा- सीबीआई एक सीएम का दफ्तर कैसे सील कर सकती है। हैरान हूं।
– बीजेपी के सीनियर लीडर्स के साथ पार्टी प्रेसिडेंट अमित शाह कर रहे हैं बैठक।
– सूत्रों का दावा है कि राजेंद्र कुमार के घर से 10 लाख रुपए कैश बरामद हुए हैं। पॉश इलाकों में तीन प्रॉपर्टीज का भी पता लगा है। उनके घर से तीन लाख रुपए वैल्यू की फॉरेन करेंसी भी मिली है।
– मीडिया रिर्पोट्स के मुताबिक, दो घंटे से वहां तलाशी ली जा रही है। राजेंद्र को गिरफ्तार भी किया जा सकता है।
– दिल्ली, यूपी और पंजाब में 14 जगहों पर सीबीआई इस मामले में छापेमारी कर रही है।
– अपोजिशन इस मुद्दे पर राज्यसभा में हंगामा कर रहा है।
– सीबीआई ने राजेंद्र कुमार के खिलाफ अपने पद के गलत इस्तेमाल का केस दर्ज कर लिया है।
छापे के बाद केजरीवाल ने क्या किए ट्वीट?
– 2002 में शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार के मामले में 2015 में केजरीवाल पर CBI रेड। वाह मोदी जी।
– वित्त मंत्री ने संसद में झूठ बोला। मेरे खिलाफ सबूत के लिए मेरे ऑफिस में फाइलों को खंगाला गया। बता दें की संसद में अरुण जेटली ने सफाई दी की सीएम के दफ्तर पर छापा नहीं मारा गया।
– सीबीआई ने मेरे दफ्तर पर छापा मारा है।
– जब मोदी मेरा राजनीतिक मुकाबला नहीं कर पाए तो वे कायराना हरकतों पर उतर आए हैं।
– मोदी कायर और साइकोपैथ (मनोरोगी) हैं।
– सीबीआई झूठ बोल रही है। मेरे आॅफिस पर ही रेड डाली गई है। सीएम ऑफिस की फाइलें देखी जा रही हैं। मोदी खुद ही बता दें कि उन्हें कौन-सी फाइल चाहिए?
– राजेंद्र के बहाने मेरे दफ्तर की सारी फाइलें देखी जा रही हैं।
– मैं ही ऐसा अकेला सीएम हूं, जिसने खुद एक मंत्री और एक सीनियर अफसर को करप्शन का आरोप लगने के बाद हटाया था और मामले सीबीआई को सौंपे थे।
– अगर सीबीआई के पास राजेंद्र कुमार के खिलाफ कोई सबूत थे, तो वो मेरे साथ साझा क्यों नहीं किए गए? मैं उनके खिलाफ कार्रवाई करता।
छापा सीएम के खिलाफ था या सेक्रेटरी के?
– सीबीआई का कहना है कि हमने केजरीवाल का ऑफिस सील नहीं किया है।
– लेकिन आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास का कहना है कि सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार केजरीवाल के ही ऑफिस में तो बैठते हैं।
– विश्वास ने सवाल उठाया कि ललितगेट केस में अगर कार्रवाई होगी तो क्या पीएम नरेंद्र मोदी का दफ्तर सील होगा?
– दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सचिवालय में तीसरी मंजिल पर सीएम ऑफिस है। छापा वहीं पड़ा है। तो छापा किसके खिलाफ है?
– सिसोदिया ने कहा कि प्रिंसिपल सेक्रेटरी का अपना दफ्तर नहीं होता। वे सीएम के साथ बैठते हैं। अगर पीएमओ में कल छापा पड़ता है, तो क्या वह पीएम के खिलाफ छापा नहीं कहलाएगा ?
क्या है मामला?
– केजरीवाल के प्रिंसिपल सेक्रेटरी राजेंद्र कुमार के खिलाफ एंटी करप्शन ब्रांच ने केस दर्ज किया था।
– दरअसल, दिल्ली सरकार के कुछ अफसरों ने वॉलंटरी रिटायरमेंट लिया था और एक सॉफ्टवेयर कंपनी बनाई थी।
– राजेंद्र कुमार पर आरोप है कि वे कई सालों से पूर्व अफसरों की कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट के जरिए फायदा पहुंचा रहे थे।
– मंगलवार सुबह दिल्ली सचिवालय में छापे के बाद सीबीआई ने कुमार के खिलाफ पद के गलत इस्तेमाल का मामला भी दर्ज कर लिया।
– राजेंद्र कुमार केजरीवाल के सबसे करीबी अफ़सर माने जाते हैं। राजेंद्र कुमार 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।
– सीनियर नौकरशाह आशीष जोशी ने 12 जून को एसीबी से शिकायत की थी। एसीबी ने कार्रवाई नहीं की तो 13 जुलाई को सीबीआई से शिकायत की।
कुमार विश्वास ने और क्या कहा?
– ये गलत तर्क है। जहां अरविंद बैठते हैं, वहीं प्रिंसिपल सेक्रेटरी बैठते हैं। मैं मोदी सरकार को इस बात की बधाई देता हूं कि वे ऐसा कर रहे हैं।
– क्या उन्होंने वसुंधरा, सुषमा, शिवराज का ऑफिस बंद कराया? इससे देश को पता चलता है कि आने वाले कल में क्या होगा?
– अगर मोदी सोचते हैं कि उन्होंने गुजरात में अपने विरोधियों को खत्म करवा दिया, अब हमें डरा लेंगे तो वह गलत सोच रहे हैं।
– दिल्ली में आप (मोदी) हारे, तीन सीटें आईं तो क्यों हारे, ये सोचें? बिहार में हारे, इसके बारे में सोचें। हमें डराएं नहीं।
मोदी सरकार के मंत्रियों ने क्या कहा?
– मोदी सरकार में मिनिस्टर किरण रिजिजु ने कहा, “सरकार ये सब नहीं करती, ये सब हमसे न पूछिए।”
– संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने कहा, ”फैशन बन गया है कि वे पीएम और केंद्र सरकार का हर मामले में नाम लेते हैं। सीबीआई सरकार के तहत काम नहीं करती, हम दखल नहीं देते। पीएम का इससे कोई लेना-देना नहीं है। नियम है, कानून है, उसी के मुताबिक काम होता है।”

बीजेपी बोली- माफी मांगें केजरीवाल

– बीजेपी के सीनियर लीडर और केंद्र में मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ”राजेंद्र कुमार कई अहम पदों पर रहे हैं। फिलहाल वे सीएस टू सीएम अरविंद केजरीवाल हैं। राजेंद्र पर कई आरोप हैं। कुछ महीनों पहले सीबीआई के सामने मामला आया था जिसके आधार पर एफआईआर की गई। सीएस के दफ्तर पर रेड हुई, सीएम ऑफिस पर नहीं। सीबीआई ने सर्च वॉरंट के आधार पर छापा मारा गया।”

– ”मंत्री, मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री के सचिव-मुख्य सचिव की नियुक्ति की प्रक्रिया होती है। यह जानना भी जरूरी होता है कि उन पर कोई केस तो नहीं चल रहा है। क्या केजरीवाल साहब ने यह जानने की कोशिश नहीं की? केजरीवाल को देश के लोकप्रिय पीएम नरेंद्र मोदी को कायर कहने के लिए माफी मांगनी चाहिए।”
CBI Raids Office Of Delhi CM Arvind Kejriwal दिल्ली सचिवालय में छापा

Facebook Comments