बिलासपुर मस्तूरी

मस्तूरी प्रेस क्लब में फिर लगा ग्रहण, सहायक पंजीयक ने दिया नोटिस।

Summary

Hind times:-बिलासपुर जिले के ब्लॉक स्तर पर इन दिनों प्रेस क्लब खोलने का कार्यक्रम चल रहा है इसी के चलते मस्तूरी  ब्लॉक में जिले के क्लब के पदाधिकारियों ने ब्लॉक के में प्रेस क्लब का शपथ ग्रहण करा दिया जिस […]

Hind times:-बिलासपुर जिले के ब्लॉक स्तर पर इन दिनों प्रेस क्लब खोलने का कार्यक्रम चल रहा है इसी के चलते मस्तूरी  ब्लॉक में जिले के क्लब के पदाधिकारियों ने ब्लॉक के में प्रेस क्लब का शपथ ग्रहण करा दिया जिस क्लब के पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण हुआ वह फर्म वहां रजिस्टार के दफ्तर में पंजीकृत ही नहीं हुआ था।किसने किसे शपथ दिला दी इस बात से रजिस्टर को क्या फर्क पड़ता है।मस्तूरी से दो अलग-अलग पत्रकार समूह ने एक ही नाम का ऑनलाइन आवेदन किया था अधिकारी ने दोनों दल को नोटिस दिया है और कहा है कि मतभेद दूर कर उपस्थित हो जब तक ऐसा नहीं होगा  पंजीयन लंबित रहेगा। बिना पंजीयन जिन लोगों ने शपथ लेकर  अपनी पीठ स्वयं थपथपाई थी अब क्षेत्र में हंसी के पात्र बने हुए हैं। साथ में लोग यह भी पूछ रहे हैं कि जिला क्लब को ब्लॉक स्तर पर बिना पंजीकृत  प्रेस क्लब के पदाधिकारियों को शपथ दिलाने की जल्दी क्यों थी।


मस्तूरी में प्रेस क्लब के  गठन के नाम से लगातार  विवाद स्थिति बनी हुई है।
सबसे  पहले मस्तूरी में जब प्रेस क्लब का गठन हुआ तब मस्तूरी के वरिष्ठ पत्रकार ननकू साहू को सर्वसम्मति से प्रेस क्लब का अध्यक्ष बनाया गया था जो लगभग अपना कार्यकाल सभी  लोगो को विश्वास मैं लेकर  पूर्णतः से चलाया था उसके पश्चात दूसरी बार जब मस्तूरी में प्रेस क्लब गठन किया गया तो प्रमोद अवस्थी को सर्वसम्मति से अध्यक्ष बनाया गया था जो विवाद स्थिति होने पर 3 महीने में ही जिला प्रेस क्लब के द्वारा मस्तूरी प्रेस क्लब को भंग कर दिया गया था। अब तीसरी बार जब नियुक्ति की बारी आई है तो जिला के ही पदाधिकारियों ने मस्तूरी में प्रेस क्लब का गठन किया जिसमें प्रेस क्लब  अध्यक्ष बनाया गया है। लेकिन उसमें भी बिलासपुर सहायक पंजीयक के द्वारा नोटिस जारी किया गया है।
अब सवाल यह है कि मस्तूरी प्रेस क्लब के नाम से किसी भी व्यक्ति या संगठन का पंजीयन नहीं हुआ है तो मस्तूरी में प्रेस क्लब का गठन कैसे किया गया।