रोजगार सहायिका के कार्यप्रणाली को के लेकर ग्रामीणों ने उठाई सवाल मनरेगा के तहत किये गए कार्यो का अबतक नही हुआ भुगतान रोजगार सहायिका के भाई के देखरेख में होता हैं काम नाम बस की है रोजगार सहायिका, सीईओ से किया गया शिकायत

बिलासपुर मस्तूरी

Hind Times:-बिलासपुर मस्तूरी एक तरफ से पुरा देश कोरोना से जूझ रहा है जिसके चलते कई कार्य नहीं हो पा रहा है और ग्राम पंचायत में मजदूरों से कराए गए निर्माण कार्यो का किसी प्रकार से भुगतान नहीं होने के कारण  आर्थिक तंगी से जूझना पड़ रहा है  मजदूरों का आरोप जल्द से दिलाये भुगतान बता दे कि पूरा मामला मस्तूरी क्षेत्र स्थित ग्राम पंचायत कोसमडीह में मनरेगा के तहत किये गए कार्यो तालाब गहरीकरण का कार्य डबरी निर्माण एवं खेत समतलीकरण का कार्य मनरेगा के तहत करवाया गया जिसका भुगतान अभी तक नही हुआ

जिसकी शिकायत लेकर मजदूरों ने भुगतान के लिए जनपद सीईओ और कार्यक्रम अधिकारी को लिखित में शिकायत दिया और यह भी बताया कि रोजगार गारंटी में किये गए कार्यो के सम्बंध में रोजगार सहायिका द्वारा किसी प्रकार का कोई जानकारी नही दी जाती रोजगार सहायिका का पूरा काम उसके भाई के द्वारा किया जाता हैं जबकि महिला रोजगार सहायिका है वह देखने तक नही आती न ही भुगतान सम्बंधित जानकारी के बारे में कुछ नही बताती हैं ग्रामीणों ने मनरेगा के तहत किये गए कार्यो में भरे गए मस्टरोल की जांच किया जाना चाहिए 


ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया है कि रोजगार सहायक का पूरा कार्य उसका भाई देखता है कार्यालय में भी वही जमा करता हैं रोजगार सहायक द्वारा कराए गए कार्यो का भी जांच एवं भरे गए मस्टरोल की भी जांच करते हुए  कार्यवाही की मांग की 

वही मस्तूरी सीईओ कुमार लहरे ने कहा कि भुगतान के सम्बंध में रोजगार सहायिका से जानकारी ली जायेगी और जो शिकायत मिला उसका जांच कर कार्यवाही किया जाएगा