आरक्षक रमेश चंद्र रावत सेवा से बर्खाश्त

बिलासपुर

Hind times:-बिलासपुर आरक्षक 750 रमेश चंद्र रावत 16 दिसम्बर 1994 को आरक्षक के पद पर जिला बिलासपुर में नियुक्त हुआ था। आरक्षक की रक्षित केन्द्र बिलासपुर में पदस्थापना के दौरान 19 अप्रैल 2009 को बिना किसी सूचना के अनाधिकृत रूप से अनुपस्थित हो गया और आज दिनांक तक उसके द्वारा किसी प्रकार की सूचना नहीं भेजी गई है। अपचारी आरक्षक के लगातार 11 वर्ष से अधिक समये से अनाधिकृत रूप से अनुपस्थिति के दौरान जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा अनेकों बार उसके निवास ग्राम टर्राकला थाना रघुनाथपुर जिला श्योपुर (म.प्र.) के पते पर नोटिस भेजा गया। वहां के थाना प्रभारी द्वारा सूचित किया गया कि आर.750 रमेश रावत पिता हरभजन रावत नाम का कोई व्यक्ति उक्त गांव में नहीं है। उक्त आरक्षक का यह कृत्य स्वेच्छाचारिता, कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही एवं उदासीनपूर्ण है। यह पुलिस रेग्युलेशन की कंडिका 64(4) का उल्लंघन भी है। समस्त विभागीय जांच का गंभीरतापूर्वक अध्ययन मनन करने पर दीर्घकालीन अनाधिकृत अनुपस्थित के गंभीर कराचरण के लिए आर.750 रमेश चंद्र रावत रक्षित केन्द्र बिलासपुर को पुलिस अधीक्षक द्वारा विभाग की सेवा से पृथक करने दण्डित किया है। साथ ही अनाधिकृत अनुपस्थिति अवधि का कार्य नहीं वेतन नहीं के सिद्धांत के तहत कार्यवाहीं की गई है।