भाजपा का जेल भरो आंदोलन मस्तूरी विधायक के नेतृत्व में हजारों कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारी

छत्तीसगढ़ बिलासपुर

विमल कांत की रिपोर्ट

Hindtimes बिलासपुर : छत्तीसगढ़ में धरना-प्रदर्शन को लेकर जारी सरकारी आदेश के को लेकर BJP ने मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी ने सोमवार को प्रदेश भर में जेल भरो आंदोलन की शुरुआत की।

बिलासपुर में सभी क्षेत्रीय विधायक व भाजपा नेता अपने अपने क्षेत्र से कार्यकर्ताओं को लेकर धरने पर पहुंचे वही मस्तूरी विधायक के नेतृत्व में हजारों बीजेपी कार्यकर्ता सड़क पर उतरे। और नेहरू चौक पर धरना प्रदर्शन किया बिलासपुर में में करीब दो घंटे से चल रहे प्रदर्शन के बाद पुलिस ने पूर्व मंत्री नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल मस्तूरी विधायक डॉक्टर कृष्णमूर्ति बांधी पूर्व महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडे बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, भूपेंद्र सवन्नी जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत सहित करीब 2000 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है।

मस्तूरी विधायक धरना स्थल पर निर्धारित समय से पूर्व ही पहुंच गए थे जिसके बाद उन्होंने एक-एक कर कार्यकर्ताओं से संपर्क कर उन्हें धरना स्थल पर बुलाया मस्तूरी विधानसभा के पांचों मंडलों से लगभग हजारों कार्यकर्ता धरना प्रदर्शन में शामिल हुए और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर हल्ला बोल किया ।पुलिस ने की जगह जगह बेरिकेटिंग प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेड लगाए। पूरा नेहरू चौक पुलिस छावनी में तब्दील रहा मंगला चौक से कलेक्ट्रेट आने वाले रास्ते नेहरू चौक से कलेक्ट्रेट जाने वाले रास्ते साथ ही मंदिर चौक से कलेक्ट्रेट आने वाले रास्ते पर पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रास्ता जाम कर दिया था इसके बावजूद भी गली कूचे से होकर भाजपा कार्यकर्ता धरना स्थल पर पहुंचे और भूपेश सरकार के खिलाफ अपनी भड़ास निकाली बेरिकेड्स तोड़ा


बिलासपुर में जेल भरो आंदोलन के तहत भाजपाइयों और पुलिस के बीच जमकर झूमाझटकी हुई। पुलिस ने भाजपाइयों को कलेक्ट्रेट से पहले रोक लिया। बताया जाता है कि एक BJP नेता की गिरफ्तारी हुई। गिरफ्तार के बाद मुचलके पर सभी को रिहा कर दिया जाएगा। जांजगीर में कलेक्ट्रेट की ओर बढ़ रहे भाजपाइयों ने बेरिकेड्स तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।
गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में भी गिरफ्तारी
गौरेला में भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर गिरफ्तारी दी। सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता जिला भाजपा कार्यालय में एकत्रित हुए और वहां से रैली निकालकर कलेक्ट्रेट का घेराव करने के लिए बढ़ने लगे। इस दौरान पुलिस ने सख्त सुरक्षा व्यवस्था की थी। कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोक दिया गया। कलेक्ट्रेट से पहले ही सभी कार्यकर्ता गिरफ्तार कर लिए गए। इसके बाद उन्हें अस्थाई जेल ले जाया गया।

इस दौरान भी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।जांजगीर में भाजपाइयों ने बैरिकेड तोड़ा, अस्थाई जेल ले जाए गए जांजगीर में भाजपा नेताओं ने सरकारी आदेश को लोकतंत्र की हत्या बताते हुए सड़क पर प्रदर्शन किया। कचहरी चौक पर सैकड़ों की तादाद में मौजूद नेताओं और कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान कार्यकर्ता बैरिकेड पर चढ़ गए और उसे तोड़ दिया। इस दौरान पुलिसकर्मियों और कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई

इसमें अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी गिर पड़े और उन्हें पैर में चोट आई है। इसके बाद पुलिस ने कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें बीडी महंत बालोद्यान में बनाए गए अस्थाई जेल लाया गया है।इस फैसले का विरोध
पिछले दिनों गृह विभाग की तरफ से एक आदेश भी जारी किया गया। इसमें तमाम धरना, निजी, सार्वजनिक कार्यक्रम, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रमों, जुलूस, रैली, भूख हड़ताल जैसे कार्यक्रमों को लेकर एक गाइडलाइन जारी की गई है। इसमें प्रदेश के सभी कलेक्टर और एसपी को निर्देशित किया गया। यह कहा गया है कि सभी सार्वजनिक आंदोलन, धरना प्रदर्शन, राजनीतिक कार्यक्रम वगैरह अब जिला प्रशासन से बिना अनुमति के आयोजित नहीं किए जा सकेंगे। सरकार के इसी फैसले का विरोध भाजपा कर रही है।