क्रेशर से उड़ने वाली धूल से न केवल ग्रामीण बल्कि स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे भी परेशान हैं

बिलासपुर मस्तूरी

Hindtimes बिलासपुर मस्तूरी से जयरामनगर जाने वाले मार्ग में निकलने वाले राहगीर भी बेहद परेशान हैं। क्रेशरों की शिकायत कई बार प्रदूषण विभाग एवं खनिज विभाग, राजस्व विभाग से की गई पर न तो कोई कार्रवाई हुई और न ही इनके द्वारा कोई सुधार किया गया। वही शिव पेट्रोल पंप के सामने बेधड़क गिट्टी खदान संचालित किया जा रहा हैदिन और रात में चलने से बड़ी मात्रा में धूल के गुबार उड़ते हैं। हालात यह हैं कि धूल के गुबार इस कदर रहते हैं कि सुबह सुबह राहगीरों को सामने से आने वाली गाड़ियां भी दिखाई नहीं देतीं। अनियमितताओं का आलम यह है कि इस क्रेशर के पास 80 मीटर की दूरी में ही ट्रू शेफर्ड इंग्लिश मीडियम के स्कूल में बच्चे जाते हैं और धूल वहां तक उड़ कर जाती है आए दिन होने वाली ब्लास्टिंग से बच्चे सहम जाते हैं । स्कूल के बच्चों के स्वास्थ्य पर भी धूल के कारण विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। सूत्रों की माने तो कुछ ग्रामीणों का कहना है कि शिकायतों के बाद अधिकारी की कार्रवाई केवल सेटिंग बनाने तक ही सीमित है। जिसके चलते क्रेशर संचालक की मनमानी बदस्तूर जारी है।
क्रेशर संचालक नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए शासन प्रशासन को चिढ़ाते नजर आते हैं और इनके आसपास लगी कृषि भूमि और फसल को भी भारी नुकसान झेलना पड़ता है। जिसका सीधा असर किसानों की आर्थिक हालात पर पड़ रहा है । इसकी वजह से किसान अपनी जमीन को गिट्टी खदान संचालक से बेचने को मजबूर हो रहे है।