पिछड़ी क्षेत्र के किसानों का दर्द को अवगत कराने हरदी(गोबरी) व कोकड़ी सरपंच पहुंचे कृषि एवं जल संसाधन मंत्री के पास

बिलासपुर मस्तूरी

//विमल कांत की रिपोर्ट//

Hindtimes बिलासपुर/मस्तूरी ब्लॉक के पिछड़ी क्षेत्र के किसानों की दर्द को सुनाने व लिफ्ट एरिगेशन की मांग को लेकर हरदी व कोकड़ी सरपंच इंजी.दीपक बंजारे व कोकड़ी हेतराम डांडे ने कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविन्द्र चौबे  के पास पहुंचे,सरपंचों ने दर्द भरी व नम आंखों से किसानों की सिंचाई जैसी गंभीर समस्या को कृषि एवं जल संसाधन मंत्री को बताया कि हमारा क्षेत्र मस्तूरी क्षेत्र का सबसे पिछड़ा क्षेत्र है जिनके वजह से नहर का पानी सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में नही पहुंच पाती है और प्रतिवर्ष अकाल की संकट मंडराती रहती है जिनके वजह से हमारे क्षेत्र से प्रतिवर्ष 70-80% लोग पलायन को मजबूर हो जाते है पैसो के कमी के वजह से कई प्रतिभावान विद्यार्थियो को अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ जाती है और किसी अन्य राज्य में मजदूरी करने को मजबूर हो जाते है ।

हमारे अंनदाता को फसलों की सिंचाई के लिए  शिवनाथ नदी में पानी की व्यवस्था होने के बाद भी सिंचाई के लिए दर ब दर भटकना पड़ रहा है जबकि हमारे गांव के समीप से ही शिवनाथ नदी का बहाव होता है जिनका हम सिंचाई के लिए सही उपयोग नई कर पाते है अगर शिवनाथ नदी में लिफ्ट एरिगेशन लगाया जाता है या सिचाई हेतु उपकरण पाइप लाइन मोटर पंप का व्यवस्था किया जाता है तो हमारे पिछड़ी क्षेत्र हरदी, गोबरी, भटचौरा, कोकड़ी,बेलपान, खपरी,सल्हेघोरी,इन सभी गांवों के लगभग 3000 किसानो को सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी मिल सकती है एवम हमारे क्षेत्र के किसान साल में दो फसले ( रबी-खरीफ) फसले ले सकते है अगर ऐसा होता है तो किसानों में खेती किसानी को लेकर रुचि आएंगी आय का साधन बनेगा जिनसे किसी अन्य राज्य में पलायन दर में भी बहुत कमी होगी कोई भी प्रतिभवान विद्यार्थी पैसो की कमी के वजह से अपनी पढाई की नई छोड़ेगा व मस्तूरी क्षेत्र में किसानो की फसल को लेकर एक नई पहचान बनेगी ।
सरपंचों द्वारा बंया किये गए किसानों के दर्द को तत्काल महसूस कर संज्ञान में लेते हुए कृषि एवम जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने लिफ्ट एरिगेन्शन ( सूक्ष्म सौर सिंचाई योजना) को आने वाली बजट में जोड़ने का आश्वासन दिया व बहुत जल्दी किसानों से रूबरू होने के लिए क्षेत्र का दौरा करने के बाद कहा । सरपंचों ने मंत्री जी के इस कथन का स्वागत करते हुए कहा कि ऐसा होता है तो हम सभी किसान बंधुओ के लिए बहुत बड़ी सौगात रहेगी।