शादी का प्रलोभन देकर बलात्कार करने वाले आरोपी को किया गिरफ्तार आरोपी को जांजगीर से लिया हिरासत मेंआरोपी द्वारा पीडिता के गर्भधारण को दवाई खिलाकर कराया गया गर्भपात ।

क्राइम बिलासपुर

Hindtimes बिलासपुर  सिरगिट्टी थाना प्रभारी फैजुल शाह होदा के अनुसार  प्रार्थीया द्वारा थाने में उपस्थित होकर लिखित आवेदन देकर  रिपोर्ट दर्ज कराई कि प्रार्थीया के गांव के पवन कौशिक पिता मुरारी कौशिक करीबन डैढ वर्ष पूर्व जुलाई 2019 से योगेश कौशिक के दोना पतल बनाने की दुकान में, पत्तल बनाने का काम करती थी उसी दोना पतल दुकान में पवन कौशिक भी काम करता था।

प्राथींया और आरोपी दोनों का अपसी पहचान होने से मोबाईल से भी बात किया करते थे इस दौरान दोनों एक दूसरे को पसंद लगे आरोपी पवन कौशिक प्रार्थीया को होली त्यौहार के कुछ दिन बाद दिनांक 29 मार्च 2020 को अपने प्लाट में मिलने के लिये बुलाया था जहां उससे मिलने के लिये प्रार्थीया दोपहर में गयी थी जाहां आरोपी द्वारा प्लाट में बने कमरे में प्रार्थीया को ले जाकर शादी करने का वादा कर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया था, उसके बाद जब भी मौका मिलता वह प्रार्थीया को कहीं भी ले जाकर शारीरिक संबंध बनाता रहता था जिससे प्रार्थीया गर्भवती हो गयी थी। इस बात को प्रार्थीया द्वारा आरोपी पवन कौशिक को बताने पर वह शादी के पहले बच्चा नहीं लेना है कहकर प्रार्थीया को गर्भ गिराने का गोली लाकर योगेश कौशिक के दोना पत्तल के दुकान में खिलाया था गोली खाने के दुसरे दिन ही प्रार्थीया का गर्भपात होना शुरू हो गया था। उसके बाद भी आरोपी पवन कौशिक द्वारा मौका देखकर प्रार्थीया से 03 जनवरी 2021 तक शारीरिक संबंध बनाता रहा, जिससे कारण प्रार्थीयां पुनः 02 माह का गर्भवती हो गई तथा आरोपी पवन कौशिक को शादी करने की बात बोलने पर अब शादी करने से इंकार कर रहा है तथा अपने समाज में शादी करने के लिये दूसरी लड़की की तलाश कर रहा है। आरोपी द्वारा पीडिता नाबालिक है जानते हुए भी बनाया गया शारिरिक संबंध ।


उक्त घटना के बारे में प्रार्थीया द्वारा अपनी मां. अपने बड़े भाई, एवं अपने मामा को बताई है कि रिपोर्ट पर थाना सिरगिटटी में उपरोक्त प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना कार्यवाही में लिया गया है। प्रकरण में विवेचना दौरान आरोपी का पता तलास किया गया। इस दौरान आरोपी के मिलने के संभावित स्थानों पर दबिस दिया गया परन्तु आरोपी को रिपोर्ट का भनक लगते ही घर से फरार हो गया था। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए उक्त घटना की सूचना तत्काल वरिष्ठ अधिकारीयों को दिया गया जिनके निर्देशन पर थाना प्रभारी सिरगिटटी फैजुल होदा शाह के द्वारा तत्काल थाना से 04 टीम गठित कर आरोपी के गिरफ्तारी हेतु खोजबीन की गई इस दौरान मुखबीर सूचना से ज्ञात हुआ कि आरोपी जांजगीर में अपने किसी रिस्तेदार के घर में है, जिसे त्वरित कार्यवाही करते हुए जांजगीर टीम रवाना किया गया जहां से आरोपी को घेराबंदी कर हिरासत लेकर थाना लाये एवं घटना के संबंध में पुछताछ किया जो प्रार्थीया द्वारा दर्ज कराये गये रिपोर्ट के घटनाक्रम को सही होना बताया जिसे गिरफ्तारी का कारण बताकर विधिवत गिरफ्तार कर गिरफ्तारी की उनके परिजनों को देकर आरोपी को न्यायिक रिमाण्ड पर माननीय न्यायालय पेश किया गया है।

प्रकरण की उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी सिरगिटटी फैजुल होदा शाह, सहायक उपनिरीक्षक जीवन जायसवाल, सीता साहू प्रधान आरक्षक प्रवीण पाण्डेय, एवं धाना स्टाफ की अहम भूमिका रही।